For information regarding Sponsored blogs, Sponsored links or any other queries Contact Us


News Feed
Applications

Photo Albums (1)
Followers (1)
Friends (1)
Mutual Friends (0)
No mutual friends yet
Groups (0)
No groups yet

Recent updates

Pinned Items
Recent Activities
  • अक्षय तृतीया का सर्वसिद्ध मुहूर्त के रूप में भी विशेष महत्व है। मान्यता है कि इस दिन बिना कोई पंचांग देखे कोई भी शुभ व मांगलिक कार्य जैसे विवाह, गृह-प्रवेश, वस्त्र-आभूषणों की खरीददारी या घर, भूखंड, वाहन आदि की खरीददारी से संबंधित कार्य किए जा सकते हैं। नवीन वस्त्र, आभूषण आदि धारण करने और नई संस्था, समाज आदि की स्थापना या उदघाटन का कार्य श्रेष्ठ माना जाता है।इस दिन को किया गया तर्पण तथा पिन्डदान अथवा किसी और प्रकार का दान, अक्षय फल प्रदान करता है। इस दिन गंगा स्नान करने से तथा भगवत पूजन से समस्त पाप नष्ट हो जाते हैं। यहाँ तक कि इस दिन किया गया जप, तप, हवन, स्वाध्याय और दान भी अक्षय हो जाता है। यह तिथि यदि सोमवार तथा रोहिणी नक्षत्र के दिन आए तो इस दिन किए गए दान, जप-तप का फल बहुत अधिक बढ़ जाता हैं।इसके अतिरिक्त यदि यह तृतीया मध्याह्न से पहले......
    1. Continue Reading
    Post is under moderation
    Stream item published successfully. Item will now be visible on your stream.
  • After a short tour in Delhi, we visit the old city of Hyderabad to discover a scene of extraordinary life. We took a night train to the city of Hyderabad in the state of Andhra Pradesh (now... [[ This is a content summary only. Visit my website for full links, other content, and more! ]]Original link...
    1. Continue Reading
    Post is under moderation
    Stream item published successfully. Item will now be visible on your stream.
  • अगस्त्य संहिता के अनुसार चैत्र शुक्ल नवमी के दिन पुनर्वसु नक्षत्र, कर्क लग्न में जब सूर्य अन्यान्य पाँच ग्रहों की शुभ दृष्टिके साथ मेष राशि पर विराजमान थे, तभी साक्षात् श्री राम का माता कौसल्या के गर्भ से जन्म हुआ। चैत्र शुक्ल नवमी का धार्मिक दृष्टि से विशेष महत्व है। आज ही के दिन तेत्रा युग में रघु कुल शिरोमणि महाराज दशरथ एवं महारानी कौशल्या के यहाँ अखिल ब्रम्हांड नायक अखिलेश ने पुत्र के रूप में जन्म लिया था।दिन के बारह बजे जैसे ही सौंदर्य निकेतन, शंख, चक्र,गदा, पद्म धारण किए हुए चतुर्भुज धारी श्रीराम प्रकट हुए तो मानो माता कौशल्या उन्हें देखकर विस्मित हो गईं। उनके सौंदर्य व तेज को देखकर उनके नेत्र तृप्त नहीं हो रहे थे। श्रीराम के जन्मोत्सव को देखकर देवलोक भी अवध के सामने फीका लग रहा था। देवता, ऋषि, किन्नार, चारण सभी जन्मोत्सव में शामिल होकर आनंद उठा रहे थे। आज भी हम प्रतिवर्ष चैत्र......
    1. Continue Reading
    Post is under moderation
    Stream item published successfully. Item will now be visible on your stream.
  • And finally Dubai! After several failed attempts in previous years, I visit the UAE. I was curious to see this city that in a blink has gone from being a point in the middle of the desert to one of... [[ This is a content summary only. Visit my website for full links, other content, and more! ]]Original link...
    1. Continue Reading
    Post is under moderation
    Stream item published successfully. Item will now be visible on your stream.
  • It is St. Patrick's Day and I am in Ireland. I thought why do not I take this opportunity to visit Ireland in March and then celebrate St. Patrick's Day in Dublin? With this fact, I find flights with... [[ This is a content summary only. Visit my website for full links, other content, and more! ]]Original link...
    1. Continue Reading
    Post is under moderation
    Stream item published successfully. Item will now be visible on your stream.
There are no activities here yet
Unable to load tooltip content.

For information regarding Sponsored posts,
links or any other queries Contact Us

Sponsored Links

  I can always vouch for PrimeAcademicEssays.com  for any type of essay writing service